Category






Romantic Shayari

Writer Photo DHARMESH Fri 16th Sep 2016
ये खुली-खुली सी जुल्फें, इन्हें लाख तुम सँवारो,. जो मेरे हाथ से सँवरतीं, तो कुछ और बात होती

Comments


Upload a Shayari Joke:-

Choose type:



login-with-facebook or