Category






Writer Photo Sudhakar Kumar Fri 30th Dec 2016
रजनीकांत और केजरीवाल की मुलाकात हो जाती है --- रजनीकांत ~ मेरे गाँव में लाइट नहीं थी, मैं अगरबत्ती जलाकर उसकी रौशनी में पढ़ता था । केजरीवाल ~ हमारे गाँव में भी बिजली नहीं थी और हमारे पास अगरबत्ती के पैसे भी नहीं थे, फिर भी मैं पढ़ा । रजनीकांत~ कैसे ? केजरीवाल~ मेरा एक दोस्त था प्रकाश, उसे पास बिठा कर पढता था। एक दिन प्रकाश भीग गया वो नहीं आया फिर भी मैं पढ़ा । रजनीकांत ~ कैसे? केजरीवाल~ गाँव में ज्योति नाम की लड़की भी तो थी । उसके पास बैठ कर। रजनीकांत बेहोश।
Comments


Upload a new Joke:-

Choose type:



login-with-facebook or