KIVE SHUKAR KARA TWADA MATA RANI..

Writer Photo SONIA PARUTHI Wed 13th Sep 2017      Write your Story
KIVE-SHUKAR-KARA-TWADA-MATA-RANI.jpg
Chahe din hove...

yaa raat hove...

Sirf twada hi zikar karni aa....

Twade honde hoye fikar karan di

Koi laud hi nhi aa..

Twade baigar meri zindagi adhoori h..

Tussi hi mainu poora kitta h..

Bin mangeya tussi sab kuch ditta mainu..

kive shukar kara tera meri Maa..

Har mod te mai twanu paya..

Har ghadi bus twanu hi paya...

kive shukar kara meri maa..

Sukh mile mainu..twadi meharbani aye...

Dukh wi mile..twada shukar krni aa

Kyonki har baar mainu kuch naya sikhan nu milaya....

Kive lafza naal twada shukar kara

O vi kam haige...

Kive gava mahima mai teri.....

Kive shukar kara meri maa....

Har pal har lamha bus twade hi naam hai...

Twada shukariya haiga..tussi mainu har vaari changey passe turya...

Bus twada hi aasra hai..

Duniya ta badal gyi hai..

Unhande layi ki aankha..

Tussi fir vi unhanu maaf kareya..

Te aapni mehar bnaye rakhya..

Maa tussi hi mera sab kuch ho..

Har saas bus twadi layi hi nikaldi hai.

Tussi hi sab kuch ho..

Kive shukar kara meri maa..

Inna ditta hai tussi mainu

Kive zikar kara

Har wele bus meri Maa..

Twada shukar kara....

Mainu maaf krna agar mere tou kisi da vi dil dukhe..

Apni mehar rakhna daati ki har vele bus khushiyan hi bekhera mai...

Tussi mere naal ho..

Tou har mushkil da samna karan di himmat haigi..

Tussi hi meri jaan ho..te tussi hi mera sab kuch ho..

Kive kara shukar meri maa..

Lafz kam haige ne...

Sadde dil ek hi haige..

Tussi har wari mere dil di gal samajh jande ho...

Kive shukar kara meri maa

Kive shukar kara....


Comments

Similar Poems
माँ
Author  Photo Sanjeet Kumar Pathak   (Thu 13th Nov 2014) poem-for-maa.jpg
मुझे सुलाने की खातिर,
कई पहरों तक तुम लोरी गाई ….
अनजान तेरे दुःख से मै सोया,
जननी, इतना धैर्य कहाँ से लायी ?

मेरी दुनिया तुमने जन्नत कर दी,
अपनी खुशियों की बलि चढ़ाई,
ये जन्नत तुझसे बढ़ कर नहीं माँ,
माँ, इतना बलिदान कहाँ से लायी ?

जब भी था मैं निरा अकेला,
साथ मेरे तू थी बन परछाई,
माँ,.... Read More
हवस और नारी
Author  Photo Sanjeet Kumar Pathak   (Thu 13th Nov 2014) howas-aur-naari-poem.jpg
कितना बदल गया है भारत,
हवस रोटी पर भारी है,
जहाँ पूजी जाती थी पहले,
अब हर पल लुटती नारी है.

जो कभी थी लक्ष्मी बाई,
आज खुद बेचारी है.
अपने आबरू की भीख मांगती,
ये कैसी लाचारी है?

पहले था धृतराष्ट्र नयनसुख,
अब क़ानून ही अँधा है.
द्रौपदी हारी थी एक जुए मे,
अब हर नज़रों से हारी है.

हर म.... Read More
गरीब का बेटा
Author  Photo Sanjeet Kumar Pathak   (Thu 13th Nov 2014) poor-boy-poem.jpg
अँधेरी आसमान के नीचे,
वो जमीन पर लेटा था…
चारों ओर थे स्वान भौंकते,
वो गरीब का बेटा था.
भूख से उसकी आँखे सूजी,
और हाड़ भी सुखा था…
एक हाथ से पेट दबाता,
कई दिन से वो भूखा था.
घड़ियाँ गिन कर पहर काटता,
ऐसी विपत्ति ने घेरा था.
पल-पल वो करवट लेता,
दूर अभी सवेरा था.
उठ कर ही क्या करना था?
दि.... Read More


Similar Articles
बेटी बचाओ
Author  Photo SONIA PARUTHI   (Sun 2nd Oct 2016) Beti-bachao-beti-padhaao.jpg
बेटी बचाओ

बेटा हो या बेटी ,है तो अपने आँगन का ही फूल , तो फिर आज के युग में बेटी का जन्म होने से पहले ही एक बेटी को माँ की कोख में ही मार दिया जाता है। उसे भी जीने का हक है। लोगो का मानना है कि जो मम्मी और पापा को स्वग॔ ले जाता है वह बेटा होता है।पर शायद लोग इस बात से अनभिज्ञ हैं कि जो स्वग॔ को घ.... Read More
सफलता की कुंजी
Author  Photo SONIA PARUTHI   (Mon 3rd Oct 2016) safalata-ki-kunji.jpg
जवाब चार पन्नों में दिया जाए ,
एक पूरी किताब में दिया जाए
या केवल एक पंक्ति में, जवाब वही होगा
मेहनत, लगन और विश्वास , अब यह आप पर निर्भर करता है कि इस बात को समझने के लिए कितना समय लेना चाहते हो, एक पूरी किताब पढ़कर या केवल एक - दो शब्द समझकर।

कोई भी कार्य पलक झपकते ही नही हो जाता है। हर कार्.... Read More
पराधीन सपनेहूँ सुख नाहीं
Author  Photo SONIA PARUTHI   (Mon 11th Dec 2006) Tulisdas-Ji.jpg
पराधीन सपनेहूँ सुख नाहीं

तुलसीदास जी ने हमारे जीवन की सबसे बङी सच्चाई से अवगत कराया है कि जो व्यक्ति पूरे विश्व में दूसरों पर अधीन होता है,  वह व्यक्ति सपनों में भी सुख नहीं पाता है । हमें किसी पर भी निर्भर नहीं रहना चाहिए। हमें खुद पर अटूट विश्वास होना चाहिए व सच्ची लगन से अपने लक्ष्य की और बढ़त.... Read More


Similar Confessions
The Graph
Author Photo Anonymous User   (Sun 5th May 2019) The-Graph.jpg
Admi aise ek aisa janbar hai jo kabhi kisi ka dard samjh pata hai to kabhi kisi ka nahi . Like he is always in confusion mode . But now a days life is running with good stuffs and bad stuffs . bhag daud ki zindegi , sath me naukri aur biwi . yahi hai zindegi ? Aj kal koi kisi ko samjh nahi pata hai .... Read More
When two book thief met in Library
Author Photo Anonymous User   (Sat 26th Mar 2016) when-two-book-thief-met-in-Library.jpg
I used to steal books from our college Library. One day when I was doing my work in the library yeah.... Read More
I am happy unmarried mother of a little girl
Author Photo Anonymous User   (Sat 26th Mar 2016) happy-unmarried-mother-of-a-little-girl.jpg
#copied

I m an unmarried mother of a little girl.. neither im i in any relationship ... im happy .... Read More

Similar Stories


Shree Krishna
Author  Photo SONIA PARUTHI   (Mon 14th Aug 2017) shree-krishna.jpg
Shree Krishna ....

Your name is sweeter than mishri...
I love you so dearly...

You are a divi.... Read More


खूबसूरत रिश्ता......दोस्ती
Author  Photo Shrivastva MK   (Tue 10th Oct 2017) khubsurat-rishta-dosti.jpg


और कहा जाता है कि ज़िन्दगी में जो भी होता है कहीं न कहीं उसमे उस ख़ुदा की मर्ज़ी होती,आज मैं एक ऐसे दोस्त की बात कर रहा हूँ जिसकी उम्मीद हमने शायद सपने में भी न किया था,आज मैं उस भगवान का तहे दिल से सुक्र गुजार हूँ जिसने मुझे मोती से अनमोल,हिरे से कीमती दोस्त दिया, एक ऐसा दोस्त जिसकी तुलना आज के इ.... Read More


DOSTI HAMARI ZINDAGI
Author  Photo SONIA PARUTHI   (Sun 7th Apr 2019) dosti-hamari-zindagi.jpg
Humein ye tou nahi maloom zindagi kya hai kehti,
Par jise mile itni pyaari aur masoom yaari.
Zindagi ka har lamha hai bhut khaas,
Jeene lage wo bhi jeene ki wajah na ho jiske paas.

Dostana hota hi hai sabse pyaara rishta,
Aasmaan se aaya koi parinda.
Karu kyon mai fikra jab saath hai is rooh.... Read More



Life is very beautiful
Author  Photo Sudhakar Kumar   (Sat 6th Dec 2014) life-is-very-beautiful.jpg
एक नगर में एक मशहूर चित्रकार रहता था ।
चित्रकार ने एक बहुत सुन्दर तस्वीर बनाई और उसे नगर के चौराहे मे लगा दिया और
नीचे लिख दिया कि जिस किसी को , जहाँ भी इस में कमी नजर आये वह वहाँ निशान लगा दे ।
जब उसने शाम को तस्वीर देखी उसकी पूरी तस्वीर पर निशानों से ख़राब हो चुकी थी ।
यह देख वह बहुत दुखी हु.... Read More


विदुषी महिला
Author  Photo Sudhakar Kumar   (Sat 6th Dec 2014) bidushi-mahila.jpg
एक अमीर आदमी की शादी विदुषी महिला से हुई।
आदमी हमेशा अपनी पत्नी से
तर्क-वितर्क में पराजित हो जाता था।
एक दिन पत्नी ने कहा की औरते, पुरूषो से
किसी मामले में कम नहीं होती।
पुरूष ने कहा ठिक है,
मैं दो साल के लिये तुमसे दूर जा रहा हूँ।
इन दो सालो में एक महल,व्यापार में मुनाफा और एक बच्चा पैदा कर .... Read More


वास्तविक प्यार
Author  Photo Sudhakar Kumar   (Thu 15th Jan 2015) vastavik-pyar.jpg
आइये एक नज़र डालते है वास्तविक प्यार
पर......
°…°…°…°…°…°…°…°…°…°…°…°
जब एक छोटी लड़की अपने
पापा को बाहर से आया देखकर
उनके लिए भागकर एक गिलास......
पानी का लाये|
यह प्यार है
——————————
जब सुबह पत्नी,
पति के लिए चाय बनाती है और
... उस चाय को पति को देने के पहले
पहला घूंट पीती है|
यह प्यार.... Read More