विदुषी महिला

Author Photo Sudhakar Kumar Sat 6th Dec 2014      Write your Story
bidushi-mahila.jpg
एक अमीर आदमी की शादी विदुषी महिला से हुई।
आदमी हमेशा अपनी पत्नी से
तर्क-वितर्क में पराजित हो जाता था।
एक दिन पत्नी ने कहा की औरते, पुरूषो से
किसी मामले में कम नहीं होती।
पुरूष ने कहा ठिक है,
मैं दो साल के लिये तुमसे दूर जा रहा हूँ।
इन दो सालो में एक महल,व्यापार में मुनाफा और एक बच्चा पैदा कर के दिखाओ।
पुरूष चला गया,
विदुषी ने अपने कर्मचारियो में कर्तव्यबोध और
ईमानदारी का गुण
काफी भर दिया।
उनके पगार बढ़ा दिये,
खुद प्रत्येक काम में कर्मचारियों कि मदद करने लगी।
व्यापार दिन-दुनी रात चौगुणी बढ़ने लगी थी।
एक साल के अंदर विदुषि महिला ने महल बनवा लिया।
विदुषी ने दस गाय खरीदे,
खुद उनकी देखभाल करती थी।
उनके दूध से काफी उन्नत किस्म
की दही जमाकर
'दही वाली गुजरी' का वेश
बनाकर शहर बेचने जाती।
वेश बनाकर रोज अपने पति को दही बेचती,
और अपने मोहपाश में फँसाती।
कुछ दिन उसने अपने पति का सानिध्य, और आलिंगन पाश भी पाया।
उसके पति ने 'दही वाली गुजरी'
समझ .... उसको अपनी सोने
की अँगुठी भेंट की ।
कूछ माह बाद विदुषी माँ भी बन गई।
समय पूरा होने पर पुरूष आया।
महल और चमकता व्यापार देख काफी प्रसन्न हुआ।
पर जैसे ही बिवी के गोद में बच्चा देखा,
आगबबूला हो गया।
और क्रोधित हो चिल्ला पड़ा,
ये किसका पाप ले आई।
तब विदूषि ने अपने पति को सारी बाते बताई ...
और
दही वाली गुजरी को दी ...उसके
सोने की अँगूठी दिखाई।
फिर पूछा-ः
स्वामी अगर उस दिन
'दही वाली गुजरी के जगह मैं
ना होती... तो...?
शायद इस 'तो' का उत्तर पूरी पुरूष प्रजाती के
पास नहीं है।

Apne haatho se pilade

Author  Photo Pandit Sanjay Sharma 'aakrosh'   (Wed 4th Feb 2015) Apne haatho se pilade
Apne haatho se pila de saaki

To mai pi lu jara

Tuta hua ye dil hai mera

Tum kaho to usko si lu jara

Jindgi ke pal ab to kam hai
.... Read More

कोई खुशी तो कोई गम के सहारे जीता है

Author  Photo Shrivastva MK   (Sat 26th May 2018) कोई खुशी तो कोई गम के सहारे जीता है
कोई खुशी तो कोई गम के सहारे जीते है,
कोई इन अश्क़ों को जाम की तरह पीते है,
हमें तो आदत थी मुस्कुराने की पर
कुछ लोग ज़ख्म देकर इसे भी छीन लेते है।

दिल ये मेरा अब गुमनाम सा हो गया है,
ज़ख्मो की गलियों में बेनाम सा हो गया है,
कल तक जो धड़कता था किसी के लिए
आज ख़ुद से भी अनजान सा हो गया है।
.... Read More

MERI ZINDAGI SIRF TUMSE HAI

Author  Photo Shrivastva MK   (Sat 7th Oct 2017) MERI ZINDAGI SIRF TUMSE HAI
Meri muskurahat sirf tum se hai,
Meri khushi sirf tum se hai,
Kyon anjaan banke itna tadpate ho mujhe ye jaankar bhi ki,
meri zindagi sirf tum se hai,
meri zindagi sirf tum se hai...

Aankhen nam kar kahan chale gye tum
yu bnake mujhe zinda lash,
sisak-sisak ke ro rha dil ye mera
banke wo d.... Read More

Fast Food

Author  Photo SONIA PARUTHI   (Sat 10th Dec 2016) Fast Food
fast food ka arth hai _Aisa aahar Jo hamare swasthya ke liye haanikarak hota hai . jaisa ki ham sub jaante hai ki har chamakti hui chiz sona nahi hoti theek usi prakar har swadisht dikhne wala bhojan achha nahi hota. hamara jeevan ek sangharshmay jeevan hai . hamein har paristhiti ka saamna karke a.... Read More

Bharat ka jawan

Author  Photo Pandit Sanjay Sharma 'aakrosh'   (Sun 1st Feb 2015) Bharat ka jawan
Ye hai bharat ka jawan
Jo hai hamare desh ki shaan
Dushmano ke teer kaman
Jisse darta nahi veer jawan
Seema par seena taan
Di desh ki khatir jaan
Hai aisa veer jawan
Ham karte jiska gun gaan
In veero se hi hai
Mera bharat mahan.... Read More

भारत जोड़ो यात्रा से पहले कार्यकर्ता जोड़ो राहुल गाँधी जी

Author  Photo Pandit Sanjay Sharma 'aakrosh'   (Sat 10th Sep 2022) भारत जोड़ो यात्रा से पहले कार्यकर्ता जोड़ो राहुल गाँधी जी
https://readerblogs.navbharattimes.indiatimes.com/janakrosh/bharat-jodo-yatra-se-pahle-karykarta-jodo-rahul-gandhi-ji/
https://readerblogs.navbharattimes.indiatimes.com/janakrosh/bharat-jodo-yatra-se-pahle-karykarta-jodo-rahul-gandhi-ji/
भारत जोड़ो यात्रा के जरिये कांग्रेस अपने अस्तित्व और सम्मान क.... Read More

आज प्यार फिर सर्मसार हुआ...

Author  Photo Shrivastva MK   (Sun 26th Nov 2017) आज प्यार फिर सर्मसार हुआ...
नासमझ था मैं जब तुमसे प्यार हुआ,
इस दिल पर जब मोहब्ब्त-ए-इज़हार हुआ,
एक क्षण का भरोसा ना था इस ज़िन्दगी पर,
फिर भी सांसो-से-सांसो तक का इक़रार हुआ।

लोगो ने कहा रोयेगा तू प्यार में देख लेना
मैंने कहा, देखते है!
लोगो ने कहा, ये सब झूठ है और कुछ नही !
मैंने कहा देखते है!
.... Read More

BIKHAR SE GYE YE PAL MERE KHUSHI KE

Author  Photo Shrivastva MK   (Wed 4th Oct 2017) BIKHAR SE GYE YE PAL MERE KHUSHI KE
Bikhar se gye ye Pal mere khushi ke
Unke chale Jane ke baad,
Nikal gye en aankho se aansoo
Unki yaad aane ke baad,
Aaj nazane kyon khamosh Hai ye dil mera
Unka sath chhut Jane ke baad,
Pal Pal kuchh tutne ki aawaj sunai de rhi mujhe
Sab kuchh tut Jane ke baad,
Hansu to Kaise Hansu jab me.... Read More

जिंदगी इक धुआँ

Author  Photo Pandit Sanjay Sharma 'aakrosh'   (Thu 12th May 2016) जिंदगी इक धुआँ
जिंदगी क्या है
वो इक धुएँ की तरह होती है
कब उड़ जाये
खुद को भी खबर नहीं होती है
रह जाता है राख का इक ढेर
जिसके लिए ये दुनिया रोती है

पं संजय शर्मा 'आक्रोश'.... Read More