Fast Food

Writer Photo SONIA PARUTHI Sat 10th Dec 2016      Write your Article
fast-food.jpg
fast food ka arth hai _Aisa aahar Jo hamare swasthya ke liye haanikarak hota hai . jaisa ki ham sub jaante hai ki har chamakti hui chiz sona nahi hoti theek usi prakar har swadisht dikhne wala bhojan achha nahi hota. hamara jeevan ek sangharshmay jeevan hai . hamein har paristhiti ka saamna karke aage badhna chahiye. agar is sangharshmay jeevan mein hum aise bhojan ka sewan karenge tou hamara swasthya kharab ho jayega aur him anek bimariyon ka shikar ho jayenge aur phir safalta hamein apne gale nahi lagaygi. aajkal ke log swasthya ki jagah swad par adhik dyan dete hai jiske parinaam unhe baad mein bughatne padhte hai. badhte baazaarwad ke kaaran log fast food ki or adhik aakarshit ho rahe hai. fast food ke kaaran anek bimariyan janam le rahi hai .hum aise bhojan ka sewan karke maut ko gale laga rahein hain aur apne hi paon par kulhaadi mar rahe hain. hamein raise bhojan ka sewan nahi karna chahiye nahi tou hum apne priyon she door ho jayenge kyonki bimari kabhi nimantran dekar nahi aati hai.vigyapano ke madhyam se koi bhi utpaad poore vishva mein jagah bana leta hai aur jiske bahut dushparinam hote hain. hamein vigyapano ke mayajaal se bachna chahiye. hamein aise bhojan ko tyagana chahiye tabhi hamara jeevan sukhmay hoga.

composed by SONIA PARUTHI
AMENITY PUBLIC SCHOOL


Comments

Similar Poems
माँ
Author  Photo Sanjeet Kumar Pathak   (Thu 13th Nov 2014) poem-for-maa.jpg
मुझे सुलाने की खातिर,
कई पहरों तक तुम लोरी गाई ….
अनजान तेरे दुःख से मै सोया,
जननी, इतना धैर्य कहाँ से लायी ?

मेरी दुनिया तुमने जन्नत कर दी,
अपनी खुशियों की बलि चढ़ाई,
ये जन्नत तुझसे बढ़ कर नहीं माँ,
माँ, इतना बलिदान कहाँ से लायी ?

जब भी था मैं निरा अकेला,
साथ मेरे तू थी बन परछाई,
माँ,.... Read More
हवस और नारी
Author  Photo Sanjeet Kumar Pathak   (Thu 13th Nov 2014) howas-aur-naari-poem.jpg
कितना बदल गया है भारत,
हवस रोटी पर भारी है,
जहाँ पूजी जाती थी पहले,
अब हर पल लुटती नारी है.

जो कभी थी लक्ष्मी बाई,
आज खुद बेचारी है.
अपने आबरू की भीख मांगती,
ये कैसी लाचारी है?

पहले था धृतराष्ट्र नयनसुख,
अब क़ानून ही अँधा है.
द्रौपदी हारी थी एक जुए मे,
अब हर नज़रों से हारी है.

हर म.... Read More
गरीब का बेटा
Author  Photo Sanjeet Kumar Pathak   (Thu 13th Nov 2014) poor-boy-poem.jpg
अँधेरी आसमान के नीचे,
वो जमीन पर लेटा था…
चारों ओर थे स्वान भौंकते,
वो गरीब का बेटा था.
भूख से उसकी आँखे सूजी,
और हाड़ भी सुखा था…
एक हाथ से पेट दबाता,
कई दिन से वो भूखा था.
घड़ियाँ गिन कर पहर काटता,
ऐसी विपत्ति ने घेरा था.
पल-पल वो करवट लेता,
दूर अभी सवेरा था.
उठ कर ही क्या करना था?
दि.... Read More


Similar Stories
Life is very beautiful
Author  Photo Sudhakar Kumar   (Sat 6th Dec 2014) life-is-very-beautiful.jpg
एक नगर में एक मशहूर चित्रकार रहता था ।
चित्रकार ने एक बहुत सुन्दर तस्वीर बनाई और उसे नगर के चौराहे मे लगा दिया और
नीचे लिख दिया कि जिस किसी को , जहाँ भी इस में कमी नजर आये वह वहाँ निशान लगा दे ।
जब उसने शाम को तस्वीर देखी उसकी पूरी तस्वीर पर निशानों से ख़राब हो चुकी थी ।
यह देख वह बहुत दुखी हु.... Read More
विदुषी महिला
Author  Photo Sudhakar Kumar   (Sat 6th Dec 2014) bidushi-mahila.jpg
एक अमीर आदमी की शादी विदुषी महिला से हुई।
आदमी हमेशा अपनी पत्नी से
तर्क-वितर्क में पराजित हो जाता था।
एक दिन पत्नी ने कहा की औरते, पुरूषो से
किसी मामले में कम नहीं होती।
पुरूष ने कहा ठिक है,
मैं दो साल के लिये तुमसे दूर जा रहा हूँ।
इन दो सालो में एक महल,व्यापार में मुनाफा और एक बच्चा पैदा कर .... Read More
वास्तविक प्यार
Author  Photo Sudhakar Kumar   (Thu 15th Jan 2015) vastavik-pyar.jpg
आइये एक नज़र डालते है वास्तविक प्यार
पर......
°…°…°…°…°…°…°…°…°…°…°…°
जब एक छोटी लड़की अपने
पापा को बाहर से आया देखकर
उनके लिए भागकर एक गिलास......
पानी का लाये|
यह प्यार है
——————————
जब सुबह पत्नी,
पति के लिए चाय बनाती है और
... उस चाय को पति को देने के पहले
पहला घूंट पीती है|
यह प्यार.... Read More


Similar Confessions
The Graph
Author Photo Anonymous User   (Sun 5th May 2019) The-Graph.jpg
Admi aise ek aisa janbar hai jo kabhi kisi ka dard samjh pata hai to kabhi kisi ka nahi . Like he is always in confusion mode . But now a days life is running with good stuffs and bad stuffs . bhag daud ki zindegi , sath me naukri aur biwi . yahi hai zindegi ? Aj kal koi kisi ko samjh nahi pata hai .... Read More
When two book thief met in Library
Author Photo Anonymous User   (Sat 26th Mar 2016) when-two-book-thief-met-in-Library.jpg
I used to steal books from our college Library. One day when I was doing my work in the library yeah.... Read More
I am happy unmarried mother of a little girl
Author Photo Anonymous User   (Sat 26th Mar 2016) happy-unmarried-mother-of-a-little-girl.jpg
#copied

I m an unmarried mother of a little girl.. neither im i in any relationship ... im happy .... Read More

Similar Articles


बेटी बचाओ
Author  Photo SONIA PARUTHI   (Sun 2nd Oct 2016) Beti-bachao-beti-padhaao.jpg
बेटी बचाओ

बेटा हो या बेटी ,है तो अपने आँगन का ही फूल , तो फिर आज के युग में बेटी का जन्म होने से पहले ही एक बेटी को माँ की कोख में ही मार दिया जाता है। उसे भी जीने का हक है। लोगो का मानना है कि जो मम्मी और पापा को स्वग॔ ले जाता है वह बेटा होता है।पर शायद लोग इस बात से अनभिज्ञ हैं कि जो स्वग॔ को घ.... Read More


सफलता की कुंजी
Author  Photo SONIA PARUTHI   (Mon 3rd Oct 2016) safalata-ki-kunji.jpg
जवाब चार पन्नों में दिया जाए ,
एक पूरी किताब में दिया जाए
या केवल एक पंक्ति में, जवाब वही होगा
मेहनत, लगन और विश्वास , अब यह आप पर निर्भर करता है कि इस बात को समझने के लिए कितना समय लेना चाहते हो, एक पूरी किताब पढ़कर या केवल एक - दो शब्द समझकर।

कोई भी कार्य पलक झपकते ही नही हो जाता है। हर कार्.... Read More


पराधीन सपनेहूँ सुख नाहीं
Author  Photo SONIA PARUTHI   (Mon 11th Dec 2006) Tulisdas-Ji.jpg
पराधीन सपनेहूँ सुख नाहीं

तुलसीदास जी ने हमारे जीवन की सबसे बङी सच्चाई से अवगत कराया है कि जो व्यक्ति पूरे विश्व में दूसरों पर अधीन होता है,  वह व्यक्ति सपनों में भी सुख नहीं पाता है । हमें किसी पर भी निर्भर नहीं रहना चाहिए। हमें खुद पर अटूट विश्वास होना चाहिए व सच्ची लगन से अपने लक्ष्य की और बढ़त.... Read More



My hindi favourite quotes
Author  Photo SONIA PARUTHI   (Sat 10th Dec 2016) my-hindi-favourite-quotes.jpg
Apne charitra ko zameen jaisa mat banao jahan har koi chal sakta hai , apne charitra ko aasman jaisa banao jahan har koi jaane ki ichha rakhta hai.

Manushya keep sabhi karya in satoon mein se kisi ek ya adhik vajahon she hotein hain
mauka
prakarti
mazburi
aadat
kaaran
junoon
ichha

yeh .... Read More


अच्छी सोच का प्रभाव
Author  Photo Somya Saraswat   (Wed 15th Mar 2017) achhi-soch-ka-prabhao.jpg
हाँ... ये सच है, मैं वो खुशनसीब शख्स हूँ जिसके लिए तो वक्त भी अपना समय निकाल लेता है...
मुझे सही रास्ता दिखने के लिए। याद है मुझे वो दिन, जब किसी ने मुझ से कहा था की ज़िन्दगी में कभी भी कुछ आसानी से नही मिलता, कुछ भी पाने के लिए महनत तो करनी ही पड़ती है, कुदरत को भी....यहाँ तक की पेड़ कि छाया मे बैठक.... Read More


उ प्र में कौन देगा जान और माल को सुरक्षित रखने का लाइसेंस
Author  Photo Pandit Sanjay Sharma 'aakrosh'   (Tue 5th Sep 2017) up-crime-raaj.jpg
उ प्र में कौन देगा जान और माल को सुरक्षित रखने का लाइसेंस ? सरकार या पुलिस या फिर बेलगाम अपराधी ?
उ प्र में कौन देगा जनता की जान और माल को सुरक्षित रखने का लाइसेंस ?
सरकार या पुलिस या फिर बेलगाम अपराधी ?

उ प्र का वक्त बदला निजाम बदला पर अपराधों पर हालात नहीं बदले बल्कि देखा जाय तो आज के हालात औ.... Read More